शादी के बहुत दिनों बाद दो दोस्तों की मुलाकात हुई। दोनों बहुत खुश हुए…

शादी के बहुत दिनों बाद दो दोस्तों की मुलाकात हुई। दोनों बहुत खुश हुए और एक दूसरे के वैवाहिक जीवन का हाल पूछने लगे।

 
पहला दोस्त : सुनाओ! कैसे गुजर रहा है वैवाहिक जीवन?
 
दूसरे दोस्त का जवाब : भगवान की कृपा है। सब मज़े में है। हमारी आपस में बहुत ही अच्छी अंडरस्टैंडिंग है। सुबह हम दोनों मिलकर नाश्ता बनाते हैं, फिर बातों बातों में बर्तन धो लेते हैं।
प्यार से मिल-बांट कर सारे कपड़े धो लेते हैं। कभी वह किसी खास डिश की फरमाइश कर देती है तो कभी मैं अपनी मर्जी से कुछ पका लेता हूँ। मेरी पत्नी बहुत सफाई-पसंद है, बस इसी वजह से घर की साफ-सफाई की जिम्मेदारी मेरी है।
 
अब दूसरे दोस्त ने पहले दोस्त से पूछा : तुम सुनाओ, तुम्हारी शादी-शुदा जिंदगी कैसे गुजर रही है?
 
पहले दोस्त ने जवाब दिया : भाई, बेइज्जती तो मेरी भी इतनी ही हो रही है, जितनी तुम्हारी। लेकिन मुझे यूँ मीठे शब्दों में बताना नहीं आता….