हिंदी हसगुल्ले भाग 12

अध्यापक ने छात्र से पूछा – बताओं बच्चों ! दिन में तारे किस समय दिखाई देते है ?
एक छात्र ने उत्तर दिया – जब तमाचे पडते है |


वक्त वक़्त की बात है ..

पहले 10 रुपये देख कर खुश हो जाते थे…
.

.

.

अब मोबाइल की बैटरी 100% देखकर ..!!


आजकल के बच्चों को सब याद रखने के लिए “बादाम” खाने के लिए दिया जाता है..!!
.

.

.

.
और हमारे टाइम पे “दो झापड़” में सब याद आ जाता था..!!


HUSBAND: (watching a video) Don’t do it! I swear you gonna regret it for the rest of your life. You stupid idiot! Don’t say yes! No! No! NOOO!! Aw dang, he actually did it! What a dumb ass!
WIFE: Honey, why you so mad? What are you watching?
HUSBAND: Our wedding ceremony.


हम कौन हैं ? ? ? ? ?

?

?

?

?

?

?

हम वो आखिरी पीढ़ी है,
जिनकें बचपन की फोटो मोबाईल से नहीं ली गई…!!!


लोंगो के महीने के Ending मे थोड़ा बहोत “Pocket money” बचे रहते है…
.

.

.

मेरा “Pocket money” के End में पूरा महीना बचा रहता हैं..!!


बैंक लुटने के बाद
डाकू :- तुमने मुझे देखा ?
कलर्क :- हा।
डाकू ने कलर्क को गोली मार कर एक आदमी से पुछा :- तुमने कुछ देखा ?

आदमी :- नहीं, पर मेरी पत्नी ने देखा है, साथ मे कह रही है, पुलिस को भी बतायेगी।


कहते है कि …
“आदमी गलती करके ही सीखता है..!!!”

“कृपया ध्यान दीजिये” सिर्फ आदमी “औरत”नही..!!


शिक्षक: क्या तुम मछली खाते हो?
छात्र: हाँ मेरी आंखों के लिए यह अच्छा है।
शिक्षक: अगर तुम मछली नहीं खाओगे तो?
छात्र: तो ये मछली के लिए यह अच्छा है!


दामाद अपनी सास से : आपकी बेटी में कोई बात ढंग की नहीं है
सास : हाँ , बेटा मालूम है तभी तो कोई ढंग का लड़का नहीं मिला