आँधियों से कह दो कि वे अपनी औकात में रहे

दोस्तों
आँधियों से कह दो कि वे
अपनी औकात में रहे,
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
इस महीने मेरा तीसरा कच्छा गायब हुआ है!